2 साल में बुंदेलखंड के घर-घर में पानी पहुंचेगा - डॉ. महेन्द्र सिंह - Hindustan Pin & Infotainment

2 साल में बुंदेलखंड के घर-घर में पानी पहुंचेगा – डॉ. महेन्द्र सिंह


उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि पिछली सरकारों ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया. स्प्रिंकलर और ड्रिप सिंचाई से बुंदेलखंड के किसानों के लिए काम किया जा रहा है. 74 जिलों में नहरों का जाल बिछा रहे हैं.


जल शक्ति मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह (Photo Credit: न्यूज नेशन)

लखनऊ:

प्रदेश में जब से योगी सरकार ने सत्ता संभाली है, पहले दिन से ही बुंदेलखंड के लिए काम शुरू कर दिया गया है. कई परियोजनाओं को अब तक पूरा किया जा चुका है. बुंदेलखंड में अगले दो साल में घर-घर पानी पहुंचाया जाएगा. पिछली सरकारों ने इस तरफ कोई ध्यान नहीं दिया. स्प्रिंकलर और ड्रिप सिंचाई से बुंदेलखंड के किसानों के लिए काम किया जा रहा है. 74 जिलों में नहरों का जाल बिछा रहे हैं. विभाग को 5 भागों में बांटकर काम किया जा रहा है. 25 दिन में 100 पुलिया का निर्माण पूरा हो जाएगा जिससे 42 हजार लागों का लाभ होगा. ये कहना है कि योगी सरकार के जल शक्ति मंत्री डॉ. महेन्द्र सिंह का वह शनिवार को योगी सरकार के चार साल पूरा होने पर आयोजित न्यूज नेशन के कांक्लेव में शामिल होने पहुंचे.  

यह भी पढ़ेंः ‘यूपी के मदरसों के छात्रों के हाथ में कुरान-कंप्यूटर हो, सबके साथ वे भी बढ़ें’

डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि किसानों को तकनीक से जोड़ा जा रहा है. योगी सरकार में जो काम शुरू किए गए उनमें से अधिक के काम पूरे भी हो चुके हैं. राहुल गांधी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खेती से बारे में नहीं जानते हैं. राहुल गांधी को बरसीम और मैथी के बीच का फर्क नहीं पता है. ऐसे लोग सरकार के काम पर सवाल उठाते हैं. डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि 1951 में जब पहली जनगणना हुई तो देश की आबादी 36 करोड़ थी. तब जो योजना तैयार हुई थी वह आज के दौर में लोगों के लिए प्रासंगिक नहीं है. 9802 करोड़ रुपये की परियोजनाओं पर प्रदेश सरकार काम कर रही है.   

यह भी पढ़ेंः महिला को शादी का अधिकार लेकिन धोखे से बचाना भी जरूरीः स्वाती सिंह

जल संरक्षण के लिए बनाया कानून
डॉ. महेन्द्र सिंह ने कहा कि 22 एसटीपी बनकर तैयार हो गए है. बाकी पर तेजी से काम हो रहा है. प्रदेश में कानून बनाकर स्कूल, कॉलेज, महाविद्यालय और उद्योग के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य की गई. साथ ही जल प्रदूषण करने वालों को दंडित करने का काम किया गया. सभी सरकार दफ्तरों में वॉटर हार्वेस्टिंग अनिवार्य की गई है. सरकार ने अटल भूजल योजना पर काम शुरू किया है. वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए काम किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी की योजना के प्रदेश के सभी राज्यों में ले जाया जाएगा. नोएडा में गंगा वॉटर पहुंचाने के लिए तेजी से काम किया जा रहा है. गर्मी का मौसम शुरू होने वाला है लेकिन किसी को भी पानी की किल्लत नहीं होगी. कुंओं को पुनर्जीवित करने का काम किया जा रहा है. खेत के पानी के भी संरक्षण का काम किया जा रहा है.   



संबंधित लेख

First Published : 06 Mar 2021, 03:53:41 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.




Source link

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *